करेंट अफेयर टुडे

  • Job Image

    17 करोड़ की लागत से बनेगा उत्तर भारत का एकमात्र रेल अंडरब्रिज

    Updated on 3 April, 2019

    गोहाना से इसराना होकर समालखा बाईपास से जी.टी. रोड को मिलान करने वाला रेल अंडरब्रिज करीब 17 करोड़ रुपए की लागत से बनाया जाएगा।दिल्ली से करीब 69 किलोमीटर की दूरी पर स्थित उत्तर भारत का यह एकमात्र ऐसा रेल अंडरब्रिज होगा जो 53 डिग्री के मोड़ पर बनेगा। अब से पहले उत्तर भारत में मैक्सिमम 35 डिग्री मोड़ तक ही रेल अंडरब्रिज बनाए गए हैं।

    करीब 50 साल से समालखा के लोगों की इस मांग को हरियाणा सरकार ने अब पूरा कर जल्द ही लोगों को यह सौगात देने के लिए पी.डब्ल्यू.डी. को आदेश करदिए हैं।बताने योग्य है कि इसराना की ओर से किवाना होकर समालखा में जो सड़क जाती है, चुलकाना-किवाना और समालखा की तिराहे के पास से ही एक सड़क रेल लाइन क्रॉस करके नैस्ले रोड के रास्ते जी.टी. रोड पर मिलती है।

    इस रास्ते पर रेल अंडरब्रिज बनवाने के लिए समालखा हलके की जनता की करीब 50 सालों से पुरानी मांग विभिन्न सरकारों की लापरवाही के चलते लंबित चलती आ रही थी।

    इसको लेकर भाजपा सरकार ने पी.डब्ल्यू.डी. को इस मांग से संबंधित कार्रवाई करने के लिए कहा। पी.डब्ल्यू.डी. के एक्स.ई.एन. प्रदीप अत्री ने अपने अथक प्रयास से अपने अन्य अधिकारियों के साथ रेलवे विभाग को आर.यू.बी. यानी रेल अंडरब्रिज बनवाने के लिए कार्य करवाना शुरू किया और हरियाणा सरकार की तरफ से रेलवे विभाग डी.आर.एम. कार्यालय को पत्र लिखकर जनता को बाईपास न होने के कारण उनके सामने आने वाली समस्या से अवगत करवाकर यहां रेल अंडरब्रिज बनवाने के लिए पत्र लिखा।

    वहां से कार्रवाई होने के बाद पी.डब्ल्यू.डी. की ओर से बड़ौदा हाऊस दिल्ली द्वारा गहनता से कार्रवाई की गई, जबकि कश्मीरी गेट शिवाजी ब्रिज कंस्ट्रक्शन डिवीजन विभाग में भी कई बार पी.डब्ल्यू.डी. के अधिकारियों की आवाजाही लगी रही। कुल मिलाकर रेलवे विभाग ने पी.डब्ल्यू.डी. को यहां रेल अंडरब्रिज बनाने की स्वीकृति दे दी। अब करीब 17 करोड़ रुपए की लागत से इस पुल को बनवाने का जल्द ही कार्य शुरू कर दिया जाएगा।

    आधुनिकता से लैस होगा रेल अंडरब्रिज 
    लोक निर्माण विभाग के एक्स.ई.एन. प्रदीप अत्री का कहना है कि यह रेल अंडर ब्रिज विभिन्न रूप से आधुनिकता से लैस होगा। इसमें बरसाती पानी को लेकर ऊपर से फाइबर आदि लगाकर कवर किया जाएगा। इस रेल अंडरब्रिज की ऊंचाई करीब साढ़े 5 मीटर होगी यानी बड़े से बड़े वाहन को भी यहां से आने जाने में कोई परेशानी नहीं होगी और स्कोर बनवाने के लिए रेलवे विभाग की ओर से टैंडर भी कर दिया गया है। आचार संहिता लगने के कारण इसके लिए चुनाव आयोग से परमिशन लेने के लिए विभाग की ओर से कागजात कार्रवाई करके अपील भी की गई है।


    सरकार के आदेश पर काम शुरू 
    लोक निर्माण विभाग की ओर से रेल अंडर ब्रिज की परमिशन लेने के लिए हमने वाकई में बहुत ज्यादा मेहनत की है, क्योंकि पानीपत से चंडीगढ़ और पानीपत से दिल्ली के संैकड़ों बार हमने रेलवे विभाग में जाकर इसके लिए कार्य किया है। हरियाणा सरकार की ओर से विशेष आदेश दिए गए थे कि हर हालत में यहां पर रेल अंडरब्रिज बनवाने का कार्य किया जाए। इस कार्य को करवाने में लोक निर्माण विभाग पूरी तरह से पारदॢशता बरत कर इस कार्य को करवाएगा। करीब 23 फुट चौड़ाई वाले इस पुल की रेल लाइन के जी.टी. रोड की तरफ 150 और गांधी आदर्श कालेज की ओर भी 150 मीटर लंबाई होगी।